Truthout: Surviving the Second Gilded Age

Henry A. Giroux currently holds the Global TV Network Chair Professorship at McMaster University in the English and Cultural Studies Department. Giroux is also a member of Truthout’s Board of Directors. His website… Continue reading

नेक्रोफिलिया है ‘द डर्टी पिक्चर’

प्रकाश के रे बरगद के संपादक है. शिकस्ता मक़बरों पे टूटती रातों को इक लड़की लिये हाथों में बरबत जो घूमे कुछ गुनगुनाती है कहा करते हैं चरवाहे के जब रुकते हैं गीत… Continue reading

A walk through a century

Sumati Mehrishi walks the route of the Coronation Durbar that ended with the shifting of India’s capital from Kolkata to Delhi in 1911 and find that when it comes to spectacles, the old… Continue reading

Kabul book trade turns page on darker days

Mujib Mashal is a journalist with Al Jazeera. Follow him on twitter. “How can you care for books when you lose friends?” explained Wasim, a bookseller in Kabul’s largest book market as he… Continue reading

New Companies Bill, State Funding & Corporate Funding of Political Parties

Gopal Krishna is an environmental and civil rights activist and can be contacted at krishna1715@gmail.com. The Companies Bill 2009 is listed for introduction in the winter session as Companies Bill, 2011. The text… Continue reading

देव आनंद ने ज़िंदगी का साथ निभाना बंद कर दिया

 शेष नारायण सिंह वरिष्ठ पत्रकार हैं. उनसे sheshji@gmail.com पर संपर्क किया जा सकता है. देव आनंद ने इस रविवार ज़िंदगी का साथ निभाना बंद कर दिया, हालांकि उन्होंने बार बार यह ऐलान किया था कि… Continue reading

Tale of interesting times: Lucknow Boy

Arvind Das is a journalist-cum-photographer with a deep interest in literature, cinema and travel. He blogs and can be reached at arvindkdas@gmail.com. Vinod Mehta’s memoirs, Lucknow Boy, could not have been published in… Continue reading

Union Carbide Refuses to Pay A Single Penny to Bhopal Victicms

ToxicsWatch Alliance’s Statement: UCC’s Double Standard on Liability for Bhopal Disaster in Supreme Court Condemned High Powered Parliamentary Committee required to internalize corporate liability in Companies Bill, 2011

‘समन्वय: आईएचसी भारतीय भाषा महोत्सव’

पिछले कुछ सालों  से भारत भर में अलग-अलग जगहों पर कई तरह के साहित्योत्सवों का आयोजन हो रहा है, कुछ दुनिया भर में मशहूर भी हुए हैं. इससे यह तो जरूर हुआ है कि… Continue reading

ब्रह्मपुत्र की उदारमना बेटी मामोनी अब नहीं रहीं…

शशिकांत दिल्ली विश्वविद्यालय में अध्यापक हैं और उनके लेख अक्सर पत्र-पत्रिकाओं में छपते रहते हैं. उनसे shashikanthindi@gmail.com पर संपर्क किया जा सकता है. बेहद तकलीफ़देह ख़बर…ज्ञानपीठ पुरस्कार से पुरस्कृत असमिया की प्रख्यात लेखिका… Continue reading

वो उनवान ए उस्ताद, ये नाशुक्री नस्ल

पंकज शुक्ल नई दुनिया/संडे नई दुनिया, मुम्बई के स्थानीय संपादक हैं. पत्रकारिता के साथ फ़िल्म लेखन व निर्देशन में भी सक्रिय हैं. उनसे pankajshuklaa@gmail.com पर संपर्क किया जा सकता है. उस्ताद की श्रद्धांजलि में… Continue reading